इलाचयी के स्वास्थ्य से जुड़े फ़ायदे | Elaichi Benefits (cardamom)

0

भारतीय घर में कई तरह के मसाले मिल जाते है। जिन्हें खाना बनाने के समय इस्तेमाल किया जाता है। क्यों की भारतीय लोग खाने में ज्यादातर मसालों का सेवन करते है। लेकिन कुछ मसालों का उपयोग केवल खाने को स्वादिष्ट बनाने तक ही सिमित नहीं बल्की उनका इस्तेमाल बहुत सारी जगह पर भी किया जाता है। उन मसालों में से एक हैं इलायची – Cardamom जो आसानी से घर में मिल जाती हैं, इलायची का इस्तेमाल खाने के साथ साथ कई सारी बीमारियों को ठीक करने में भी किया जाता है इसकी जानकारी बहुत कम लोगो को पता होती है। आज इसी इलायची की बेहद महत्वपूर्ण फ़ायदे – Elaichi Benefits हम आपको देने वाले है।

Cardamom Benefits
Cardamom Benefits

इलाचयी के स्वास्थ्य से जुड़े फ़ायदे – Elaichi Benefits (cardamom)

  • खासी और जुकाम को ठीक करने में:

इलायची में एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते है। इलायची दो तरह की होती है एक हरी इलायची और दूसरी काली इलायची। काली इलायची खासी, जुकाम और श्वसन से जुडी बीमारी को ठीक करने सहायता करती है। इलायची की फली को शहद के साथ में पानी में भिगोकर रखने के बाद इसे चाय में इस्तेमाल किया जाए तो फ्लू से छुटकारा मिल जाता है। इलायची शरीर को गर्मी प्रदान करती है।

  • पाचन में सहायता:

इलायची काफी सुगन्धित होने की वजह से यह स्वाद और संवेदी तत्व को सक्रिय कर देती है जिसकी वजह से पाचन में मदत मिलती है। इलायची का सेवन करने से शरीर में एंजाइम सक्रिय हो जाते है जिसकी वजह से खाना पचाने में मदत मिलती है। इलायची के सेवन से अपच, गैस और कब्ज की बीमारी से छुटकारा मिल जाता है। इसमें कुछ रासायनिक तत्व होते है जो आतो में खाने की गतिविधि को काफी तीव्र कर देता है।

  • पाचन स्वास्थ्य में सुधार करने के कारगर:

भारतीय लोगो के अनुसार इलायची को केवल सुगंध के लिए ही इस्तेमाल नहीं किया जाता बल्की इसके इस्तेमाल से पाचन और बेहतर होता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स और उत्तेजक विरोधी तत्व होने की वजह पाचन काफी अच्छे से होता है।

इलायची पेट में पित्त अम्ल को बढ़ाने में भी सहायता करती है, जिसकी वजह से भी खाना पचाने में मदत मिलती है। दिल में जलन होना, डायरिया जैसे बीमारियों को दूर रखने में इलायची उपयोगी है।

  • ह्रदय को स्वस्थ रखने में उपयुक्त:

इसमें एंटीऑक्सीडेंट तत्व होने की वजह से इलायची ह्रदय को बिलकुल स्वस्थ रखने में भी कारगर है। इसमें फायबर होता है जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है और उससे ह्रदय बिलकुल ठीकठाक रहता है।

इलायची रक्तचाप को भी कम रखने में मदत करता है जिसकी वजह से भी हृदय को लाभ ही पहुचता है। इसके लिए आडू के रस में एक चमच धनिया और और इलायची डालकर लेने से मदत मिलती है।

ह्रदय को स्वस्थ रखने के लिए काली इलायची सबसे असरदार साबित होती है इसलिए हमेशा ह्रदय को स्वस्थ रखने के लिए Green Elaichi  – हरी इलायची का इस्तेमाल करने की बजाय काली इलायची का ही इस्तेमाल करना चाहिए। Black Elaichi – काली इलायची रक्त के थक्का बनने से रोकती है जिसकी वजह से रक्त बड़ी आसानी से ह्रदय तक पहुचता है और वहा से पुरे शरीर में भी बड़ी आसानी से प्रवाहित होता है।

  • कैंसर को प्रतिबन्ध करने में सहायक:

कैंसर की बीमारी में भी इलायची का इस्तेमाल किया जाता है। कई सारे जानवरों पर अध्ययन किया गया जिसमे सामने आया है की कैंसर के इलाज में इलायची काफी उपयोगी है। इलायची कैंसर होने से लोगो को बचा सकती है और जिन्हें कैंसर हुआ है उन्हें भी स्वस्थ करने में इलायची फायदेमंद साबित हुई है।

  • यौन स्वास्थ्य को ठीक करने में उपयोगी:

इलायची में कामोद्दीपक तत्त्व होते है। इलायची में बड़ी मात्रा में सिनोल होता है इसलिए इलायची का थोड़ासा भी पाउडर लेने से तंत्रिका उत्तेजित हो जाती है और इसकी वजह से ही यौन स्वास्थ्य बेहतर हो जाता है।

  • खून में सुगर की मात्रा को नियंत्रण में रखने में कारगर:

काली इलायची को खून में सुगर को नियंत्रण के रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इलायची में मैंगनीज बड़ी मात्रा में होने की वजह से शरीर में सुगर को कम करने में सहायता मिलती है।

  • वजन घटाने में भी उपयोगी:

इलायची का इस्तेमाल करने से चयापचय बिलकुल सही तरीके से होता है जिसकी वजह से शरीर में वसा अधिक मात्रा में इकट्ठा नहीं हो पाता और वजन घटाना बहुत ही आसान काम हो जाता है।

  • बालो को स्वस्थ रखने में सहायक:

स्कैल्प को स्वस्थ रखने में इलायची बहुत ही फायदेमंद है और इसके इस्तेमाल से बाल काफी मजबूत बन जाते है। इलायची का सेवन करने से बाल जड़ो से मजबूत हो जाते है और बाल बिलकुल चमकने लगते है।

इलायची का सेवन करने से इस तरह के फायदे होते है। इलायची को नियमित रूप से इस्तेमाल करते रहने से स्वास्थ्य बेहतर होता जाता है।

  • त्वचा की अलर्जी को ख़तम करने में सहायक:

काली इलायची में कई सारे जिवानुरोधी तत्व होते है। इलायची और शहद का मिश्रण बनाकर जिस जगह पर अलर्जी होती है वह लगाने से अलर्जी पूरी तरह से निकल जाती है।

इलायची का चयन – How to Choose Cardamom

मार्किट में कई तरह की इलायची बड़ी आसानी से मिल जाती है लेकिन सही तरीके की इलायची चुनना काफी जरुरी होता है।

जब भी मार्किट में इलायची खरीदनी हो उस समय केवल हरी इलायची ही खरीदनी चाहिए क्यों की इसका उपयोग सभी तरह के पदार्थ में किया जा सकता है। इलायची को अगर खरीदना है तो उसे हमेशा फली के साथ में ही ख़रीदे और उसकी फली भी हरी रंग की होनी चाहिए और उसकी सुगंध भी आनी चाहिए।

अगर पीसी हुई इलायची चाहिए तो इलायची को पूरी तरह से मतलब उसकी फली के साथ में पिसना चाहिए। लेकिन पीसी हुई इलायची ज्यादा दिनों तक टिक नहीं सकती और उसका सुगंध भी चला जाता है लेकिन जो फली वाली इलायची होती है वह एक साल तक या फिर उससे भी ज्यादा समय तक चलती है।

इलायची को किस जगह पर सुरक्षित रखा जा सकता है – How to store Cardamom

इलायची को किसी डिब्बे में रखने पर इलायची एक साल तक भी इस्तेमाल की जा सकती है लेकिन इस बात का ध्यान रहे की उसे ठंडी और सुखी जगह पर संभालकर रखे।

इलायची को डिब्बे में रखने के बाद में उसपर सूरज की किरने ना पड़ने दे।

अगर इलायची को बड़ी मात्रा में इकट्टा करके रखना है तो उसे किसी पॉलिथीन की बैग में रखकर उस बैग को किसी लकड़ी के डिब्बे में रख दे ताकी इलायची लम्बे समय तक अच्छी रहे। इससे इलायची का हरा रंग भी वैसे का वैसे ही रहेगा। इलायची को जिस बैग में रखा जाता है वह पूरी तरह से सुखी होनी चाहिए। अगर बैग में थोडीसी भी नमी हो तो उससे इलायची ख़राब भी हो सकती है।

सभी मसालों में इलायची की जगह कुछ अलग ही है। दूर से ही लोगो की इलायची की महक महसूस होती है। लोग कई सारी मीठी चीजो में इलायची डाल देते है ताकी पदार्थ की मिठास और सुगंध और बढ़ सके। किसी भी खाने की चीज को स्वादिष्ट बनाने के लिए उसमे लोग इलायची जरुर डालते है। शायद इसी वजह से भी इलायची को मसालों की राणी कहा जाता है। इसकी सुगंध ही इतनी अच्छी होती है की लोग दूर से समझ लेते है। चाय में इलायची डालने से चाय और भी अच्छा हो जाता है। ज्यादातर लोग चाय में इलायची डालकर ही पीते है। इलायची महँगी होने के बाद भी लोग बड़ी मात्रा में इलायची का इस्तेमाल करते है।

Read More: Health Tips 

जरुर पढ़े –

  1. निम्बू के फ़ायदे और उपयोग
  2. शहद के फायदे
  3. जैतून के तेल के फायदे
  4. टमाटर के फायदे
  5. तुलसी के फ़ायदे
  6. अजवाईन के फायदे

Note: अगर आपको हमारा इलाचयी से होने वाले स्वास्थकारी फायदे –  Benefits of Cardamom आर्टिकल अच्छा लगा तो जरुर Facebook पर लाइक करे. और हमसे जुड़े रहिये. हम आपके लिए और ऐसे Health Tips लायेंगे.
Please Note: इलाचयी के फ़ायदे / Benefits Of Cardamom के लिए दी गयी जानकारी को हमने हमारे हिसाब से बताया है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.