प्याज से होने वाले स्वास्थ लाभ | Benefits Of Onion In Hindi

2

प्याज / Onion से होने वाले कुछ महत्वपूर्ण फायदों को निचे बताया गया है –
• दर्द, सुजन और ऐठन को दूर भगाता है।
• प्याज कृमि को हटाता है और एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक तत्व की तरह काम करता है।
• जठरीय फोड़ो से बचाता है, और साथ ही अपचन की समस्या को दूर कर पेट में गैस की तकलीफ की बीमारी को दूर करता है।
• मूत्रवर्धक, पाचक, फफूंदनाशी, टॉनिक और उत्तेजक के रूप में काम करता है।
• कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर, ह्रदय विकार और दौरे के लक्षणों को कम करता है।
• गिल्टी के विकास को रोकता है और साथ ही हमें कैंसर से भी बचाता है।
• खून को गाढ़ा बनाता है और खून को साफ़ रखता है।
• छोटी-मोती बीमारियों से निजात दिलाता है जैसे कफ, सर्दी, बुखार इत्यादि।
• शरीर के खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित रखता है और हमें एनीमिया और दाँतो की सडन से बचाता है।

प्याज से होने वाले स्वास्थ लाभ / Benefits Of Onion In Hindi
Benefits Of Onion

विशेष स्वास्थकारी परिस्थिति में प्याज का उपयोग –

माँ के दूध को विकसित करता है –
• खाने के साथ कच्चा प्याज रोज़ खाना चाहिये।

आँख –
• इसका रोजाना उपयोग करने से या सेवन करने से हम अपनी दृष्टी को बढ़ा सकते है।

अनिद्रा रोग –
• इसके लिये लाल प्याज का ज्युस पिए। रोज रात में सोने से पहले 4 चम्मच ज्युस पिए। ज्युस हम उबले हुए प्याज या कच्चे प्याज का भी बना सकते है।

डॉग बिट्स –
• प्याज को अच्छी तरह से [पिसे। उसमे शहद डालकर उसे कुत्ते के काटने वाली जगह पर लगाये। यह बैक्टीरियल इन्फेक्शन को फैलने से रोकेंगा।
• इसके साथ-साथ आपको प्याज का ज्युस भी पीना चाहिये।

स्नैक बाईट (साँप के काँटने पर) –
• 15 ml प्याज के रस को सरसों के तेल में मिलाये। और जिस इंसान को साँप से काटा है उसे इस मिश्रण को पिने दीजिये। यह केवल पहला डोज है। ऐसे दो और डोज उन्हें लेने पड़ेंगे। तीस मिनट के अन्तराल के बाद दोबारा दुसरा डोज लीजिये। ऐसा करने से साँप का ज़हर थोडा कम होंगा।

गाँठ –
• आप गाँठ पर भी प्याज का रस लगा सकते है।
कानो की आंतरिक समस्या –
• गर्म प्याज के रस की 5-6 बुँदे कान में डाले, इससे आपको कान में होने वाले दर्द से छुटकारा मिलेंगा।

सनस्ट्रोक –
• प्याज के रस को छाती पकार लगाये और मसाज करे। साथ ही आप प्याज के रस को पी भी सकते है। इसीलिए खाना खाते समय रोज़ कच्चा प्याज खाये और अपनेआप को सनस्ट्रोक से बचाए।

काले बाल –
• प्याज को पीसकर उसे अपने बालो पर लगाये। इससे आपके बाल काले होने लगेंगे।

गंजापन –
• रोज गंजे भाग पर प्याज का रस लगाये और मसाज करे। इससे वहाँ नये बाल आएँगे और बालो के गिरने की समस्या भी दूर होंगी।

अपचन की समस्या –
• प्याज के ज्यादा सेवन रकने से भूक बढती है और इससे खाना आसानी से पच जाता है। इसके साथ-साथ यह लीवर की प्रक्रिया की भी विकसित करता है और पेट में होने वाले दर्द से भी छुटकारा दिलाता है।
• एक पुरे प्याज को आग में गर्म करे और फिर इसका रस निकाले। रस निकालने के बाद उसमे थोडा नमक डाले और उसे पी लीजिये।

अजीर्ण –
• लाल प्याज को काँटे। उसमे थोडा निम्बू का रस डाले और उसे खाना खाते समय खाये। इससे आपको अजीर्ण की समस्या से जल्द ही छुटकारा मिलेंगा।
• बच्चो को प्याज के रस की पाँच बुँदे पिने के लिये देनी चाहिये।

एसिडिटी –
• 60 ग्राम सफ़ेद प्याज को छोटे-छोटे टुकडो में कांटकर उसे 30 ग्राम दही में मिलाये। निजात पाने के लिये एक हफ्ते तक दिन में 3 बार इसे पिए।

अतिसार / दस्त –
• प्याज को अच्छी तरह से पिसे और लूस मोशन पर नियंत्रण पाने के लिये इसे नाभि पर लगाये।

गुर्दे संबंधी पथरी –
• प्याज के रस में शक्कर डाले और सिरप बनाये। इसे पिने से पथरी की समस्या दूर होंगी।
• रोज़ सुबह खाली पेट 50 ग्राम प्याज के रस को पिए। इससे भी पथरी की समस्या दूर होंगी।

अस्थमा –
• प्याज को पिसे और कफ से निजात पाने के लिये इसके विषाद को साँस से सोखे। इससे अस्थमा और फेफड़ो संबंधी समस्या से छुटकारा मिलेंगा।
• प्याज के रस में थोडा शहद डाले और अस्थमा से निजात पाने के लिये इसे पी लीजिये।

ताकत को बढाता है –
• एक चम्मच प्याज के रस को 2 चम्मच शहद में मिलाकर रोज इसका सेवन करे।

सर्दी और कफ –
• प्याज का सेवन करने से सर्दी और कफ की समस्या से भी छुटकारा मिलता है।
• तीन और चार चम्मच प्याज के रस में उतनी ही मात्रा में शहद मिलाकर लेने से कफ की समस्या से छुटकारा मिलता है। और कयी बार बहुत सी छोटी-मोटी बिमारियों को दूर करने में भी यह सहायक है।

सिर दर्द और सनस्ट्रोक की वजह से होने वाला सिर दर्द –
• प्याज को पिसे और उसे पैरो के तलवो पर लगाए।

दाँतो की सुरक्षा –
• सीधे प्याज का सेवन करे। यह हानिकारक बैक्टीरिया को मारता है और मुह से आने वाली बदबू को दूर करता है।
• दाँतो की दर्द से छुटकारा पाने के लिये प्रभावित दाँत पर प्याज का टुकड़ा रखे।

ह्रदय विकार से बचाता है –
• रिसर्च के अनुसार यह पता चला है की यदि हम रोज एक प्याज का सेवन करे तो निश्चित ही यह हमें ह्रदय विकार से बचाता है।

बढती हुई दिल की धड़कन और ह्रदय संबंधी विकार –
• खाना खाते समय रोज़ एक प्याज का सेवन करे। प्याज से आपके शरीर का रक्त प्रवाह नियंत्रित रहता है।

त्वचा संबंधी बीमारियाँ –
• प्याज का सेवन करने से त्वचा संबंधी समस्या से भी छुटकारा मिलता है। इससे आपकी त्वचा का रंग भी निखर जाएंगा।
• पिसे हुई प्याज को उबालकर त्वचा पर लगाने से आपको त्वचा संबंधी इन्फेक्शन से छुटकारा मिलेंगा।

नकसीर –
• प्याज के रस को प्रभावित नासिका छिद्र में लगाए। इससे आपको नकसीर की समस्या से छुटकारा मिलेंगा और साँस लेने में भी आसानी होंगी।

अनेमिया –
• प्याज के रस या कच्चे प्याज के सेवन से आपके शरीर का हीमोग्लोबिन बढ़ता है क्योकि इसमें ज्यादा मात्रा में आयरन पाया जाता है। इसीलिए कहा जाता है की प्याज के सेवन से ताकत बढती है।

उल्टी –
• समान मात्रा में प्याज के रस और अदरक के रस को मिलाये। उल्टी को रोकने के लिये इस मिश्रण का 2 चम्मच पिए।

खून की परेशानी या विकार –
• 10 ग्राम कैंडी शुगर और 1 ग्राम भुने हुए जीरा के बीज को 50 ग्राम प्याज के रस में मिलाए और उसका सेवन करे।
ऊपर दी गयी जानकारी किसी भी मेडिकल सलाह के आधार पर नही दी गयी है। इसीलिए इनमे से किसी भी उपाय को अपनाने से पहले एक बाद अपने निजी डॉक्टर की सलाह जरुर ले।

प्याज के प्रकार / Types of Onion–

साधारणतः प्याज के बहुत से प्रकार है :

लाल प्याज / Red Onion –
• प्याज के सभी प्रकारों में यह सबसे तीखा प्रकार है जिसकी बाहरी त्वचा लाल होती है अंदर से प्याज सफ़ेद होता है। इन्हें हम लंबे समय तक स्टोर कर के नही रख सकते। इस तरह के प्याज का उपयोग अक्सर सलाद और सैंडविच बनाते समय किया जाता है।

सफ़ेद प्याज / White Onion –
• इस तरह के प्याज की बाहरी त्वचा सफ़ेद और आंतरिक त्वचा भी सफ़ेद ही होती है। यह प्याज भी स्वाद में अच्छे होते है। इस तरह के प्याज को आप सीधे या पकाकर दोनों तरीको से खा सकते हो। इस तरह के प्याज का उपयोग अक्सर मैक्सियन कुकिंग के दौरान किया जाता है।

हरा प्याज / Green Onion –
• हरे प्याज को साधारणतः हम अविकसित प्याज भी कह सकते है। इन्हें हम सीधे या पकाकर दोनों तरह से खा सकते है।
प्याज को जब सीधे खाया जाता है तब आपको ज्यादा फायदा होता है। इसके साथ-साथ जब उन्हें काँटा या पकाया नही जाता तब उनमे ज्यादा न्यूट्रीशन होते है। लेकिन फिर भी पकाए हुए प्याज में भी पर्याप्त न्यूट्रीशन पाये जाते है जो हमारे स्वास्थ के लिये काफी हद तक लाभदायक भी साबित होते है।

Read More – Health Tips 

जरुर पढ़े –

  1. निम्बू के फ़ायदे और उपयोग
  2. Benefits Of Honey
  3. Benefits Of Olive Oil
  4. Benefits Of Tulsi
  5. दालचीनी के फ़ायदे
  6. Benefits Of Apple
  7. Garlic Benefits

Note :- अगर आपको हमारा गुणकारी प्याज से होने वाले स्वास्थ लाभ / Benefits Of Onion In Hindi आर्टिकल अच्छा लगा तो जरुर Facebook पर लाइक करे. और हमसे जुड़े रहिये. हम आपके लिए और ऐसे Health Tips लायेंगे.
Please Note :- प्याज से होने वाले फायदे / Onion Benefits In Hindi के लिए दी गयी जानकारी को हमने हमारे हिसाब से बताया है.

2 Comments
  1. Manish says

    Thanks for sharing such a useful information about Benefits Of Onion. we try to use these tips. Please share more information.

  2. Saddam husen says

    Apne Kafi Acchi information share kiya hai. Iss tarah ki chizo ke bare me hum sabhi ko janana cahiye. Thanku so much for sharing this useful information.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.