विटामिन E के फायदे | Vitamin E Benefits

1

खाने में अगर विटामिन E – Vitamin E को लिया जाए तो बहुत से फायदे होते है। विटामिन E को सेवन में लेने से कE सारी बिमारिया ठीक हो जाती है साथ ही बहुत सारी बीमारियों को होने से पहले ही रोका जा सकता है। विटामिन E को सेवन में शामिल कर लेने से दिल की बीमारी, छाती में दर्द होना, उच्च रक्तचाप जैसी बीमारी से छुटकारा मिल जाता है। लेकिन विटामिन E केवल वनस्पति तेल, नट्स, अनाज, फ़ल और गेहू जैसे वनस्पति के खाद्यपदार्थ से मिल सकता है।

तो चलिए देखते है की किन चीजो को खाने से विटामिन E मिलता है साथ ही हमारे शरीर में विटामिन E ना होने पर क्या लक्षण दीखते है। खाने के अलावा भी कुछ सप्लीमेंट लेने से भी विटामिन E की कमी को दूर किया जा सकता है।

Vitamin E

विटामिन E के फायदे – Vitamin E Benefits

कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखता है –

कोलेस्ट्रॉल एक प्राकृतिक तत्व है जो हमारे शरीर में लीवर में तयार किया जाता है जो शरीर की कोशिका, नसों और हार्मोन्स को सुचारू रूप से चलाने का काम करता है। जब तक कोलेस्ट्रॉल प्राकृतिक अवस्था में रहता है तब तक वो नियंत्रित और स्वस्थ अवस्था में रहता है।

लेकिन जब कोलेस्ट्रॉल का ओक्सिकरण होता है तब यह शरीर के लिए खतरा बन जाता है। एक रिसर्च में पाया गया है की विटामिन E में कुछ आयिसोमर्स एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कोलेस्ट्रॉल ऑक्सीकरण को रोकने का काम करते है। शरीर में फ्री रेडिकल डैमेज के कारण ही कोलेस्ट्रॉल ऑक्सीकरण होता है, जिसको रोकने में विटामिन E बहुत फायदेमंद साबित होता है।

त्वचा को स्वस्थ रखने में सहायक –

विटामिन E त्वचा की अन्दर की कोशिका दीवारों को मजबूत बनाने का काम करता है साथ ही उन्हें नमी देने में सहायता प्रदान करता है। यह शरीर में एक तरह से एंटी एजिंग का काम भी करता है। एक अभ्यास में ऐसा भी सामने आया है की विटामिन E त्वचा की सुजन को दूर करने का काम करता है जिसकी वजह से त्वचा पूरी तरह से स्वस्थ रहती है।

विटामिन E में पाए जानेवाले एंटीऑक्सीडेंट हमें सूरज की पराबैंगनी किरणों से त्वचा को बचाते है साथ ही किसी सिगरेट के धुए से होनेवाले दुष्प्रभाव से बचाते है। साथ ही मुहासे और एक्जिमा के खतरे को कम करने का काम करता है।

त्वचा को स्वस्थ बनाने में विटामिन E बहुतही कारगर साबित हुआ है। त्वचा की एपिडर्मिस में मौजूद विटामिन E सूरज की दाह से राहत दिलाने में काफी प्रभावी है क्यों की यही दाह आगे चलकर स्किन कैंसर का खतरा पैदा कर सकती है। विटामिन E कोशिका को बड़ी तेजी से बढ़ाने का काम करता है इसीलिए उसे दाग मिटाने में, मुहासे और झुर्रियो के तकलीफों को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

बालो को घना करने के लिए बहुत ही कारगर –

विटामिन E एक एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण बालो को गिरने से रोकने का काम करता है साथ ही वातावरण से होने वाले दुष्प्रभाव से भी बालो को बचाता है। यह स्कैल्प में रक्त प्रवाह को बढ़ाने का काम करता है। विटामिन E का तेल स्कैल्प को स्वस्थ रखता है साथ ही त्वचा को नमी देकर उसे सुखा होने से रोकता है। इस तेल की वजह से बाल बहुत ही घने और स्वस्थ रहते है। जब आपके बाल बहुत सूखे हो जाए तो उसपर विटामिन E का तेल लगाना चाहिए।

हार्मोन्स को नियंत्रित रखना – 

विटामिन E एंडोक्राइन ग्रंथि और तंत्रिका तंत्र को नियंत्रित रखने में बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान देता है जिसेक चलते शरीर के हार्मोन्स नियंत्रण में रहते है। पीएमएस, वजन बढ़ना, अलर्जी, मूत्र मार्ग में संक्रमण, त्वचा में बदलाव होना, चिंता और थकान महसूस होना इन सब बातो से पता चलता है की हार्मोन्स में कुछ ना कुछ गड़बड़ी हुईं है।

यह विटामिन शरीर के हार्मोन्स को नियंत्रित रखकर, शरीर को वजन को नियंत्रण में रखने में मदत करता है, मासिक धर्म को नियमति रखने में और पुरे शरीर में शक्ती का संचार करने में सहायता प्रदान करता है।

पीएमएस की बीमारी में सहायक –

पीरियड्स आने के दो तीन पहले और उसके दो तीन दिन तक विटामिन E के सप्लीमेंट लेने से थकान और पीएमएस के लक्षणों में छुटकारा मिलता है। विटामिन E का सेवन करने से पीरियड्स के दिनों में तकलीफ कम होती है और यह खून के बहाव को रोकने में भी सहायता प्रदान करता है। यह विटामिन हार्मोन्स को नियंत्रण में रखकर मासिक धर्म को नियमित रखने में मदत करता है।

आखो के स्वास्थ्य के लिए उपयोगी –

उम्र के साथ साथ मासपेशिया कमजोर होने लगती है लेकिन विटामिन E लेने की वजह से यह खतरा कम हो जाता है। आखो की मासपेशीया कमजोर होने से आखो की रोशनी भी जा सकती है और कोई भी अँधा हो सकता है।

लेकिन आखो की दृष्टि को बनाये रखने के लिए एक बात हमेशा ध्यान में रखनी चाहिए की विटामिन E को विटामिन सी के साथ ही लेना चाहिए इसमें बीटा कैरोटीन और जिंक एक साथ में लेने से बहुत फायदा होता है। एक अध्ययन में ऐसा भी सामने आया है की विटामिन E और विटामिन A को साथ में लेने से जो लोग लेजर सर्जरी करते है उनकी आखो के लिए बहुत कारगर साबित हो चूका है।

अलझायमर के मरीजो के लिए लाभदायक –

एक अध्ययन में ऐसा भी सामने आया है की टोकोट्रिनोल में एंटी इंफ्लेमेटरी के विशेष गुणधर्म होने की वजह से यह अलझायमर के मरीजो के लिए काफी लाभदायक है। विटामिन E दिमाग की भूल जाने आदत को कम करने में मदत करता है साथ ही दिमाग से जुड़े अन्य बीमारियों में भी सहायता करता है। विटामिन E को विटामिन सी के साथ लेने से डिमेनशिया जैसे दिमाग की बीमारी का खतरा भी कम हो जाता है।

कैंसर के खतरे को कम करने में कारगर –

कैंसर की बीमारी को ठीक करने लिए जो रेडिएशन और डायलिसिस के उपचार किये जाते है तो इनसे होने वाले दुष्प्रभाव को कम करने के लिए विटामिन E उपयोग में लाया जात है। विटामिन E में पाए जानेवाले एंटीऑक्सीडेंट शरीर के अन्दर के फ्री रेडिकल्स को रोकने का काम करते है। कुछ दवाईयों के साइड इफेक्ट्स जैसे की बालो का झडना, फेफड़े की क्षति को कम करने में मदत करता है।

विटामिन E कुछ आयिसोमर्स कैंसर से बचाने में काफी इस्तेमाल किये जाते है। कुछ पशुओ पर किये गए अध्ययन में ऐसा भी पाया गया है की टोकोट्रिनोल की दवाई लेने से कैंसर के ट्यूमर को रोका जा सकता है। टोकोट्रिनोल केवल कैंसर के ट्यूमर को रोकने मे ही मदत नहीं करता बल्की कैंसर के कोशिका को ख़तम करने में भी बहुत लाभदायक है। ब्रैस्ट कैंसर, प्रोस्टेट, हिपेटिक और स्किन कैंसर की बीमारी में भी यह बहुत ही उपयोगी है।

शरीर के मासपेशिया को मजबूत करने में उपयोगी –

शरीर को मजबूत और ताकतवर बनाने में विटामिन E का इस्तेमाल किया जाता है। विटामिन E शरीर में ताकत को बढ़ाने का काम करता है साथ ही कसरत करने के बाद मासपेशियो पर आने वाले तनाव को भी कम करने का काम करता है। विटामिन E मासपेशियो को ताकत प्रदान करने का काम भी करता है। यह विटामिन रक्त प्रवाह को अच्छा करके थकान को भगाने में बहुत ही कारगर साबित हुआ है साथ ही यह हमारे शरीर में कोशिकाओ को पोषण देने का काम करता है।

गर्भावस्था में बच्चो के विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण –

गर्भावस्था के दौरान विटामिन E लेना बहुत जरुरी होता है क्यों की छोटो बच्चो के विकास लिए यह बहुत जरुरी होता है। क्यों की विटामिन E फैटी एसिड को बचाने का काम करता है। कुछ अध्ययन में ऐसा भी कहा गया है की गर्भावस्था से लेकर पहले 1000 दिनों तक विटामिन E का सेवन करना चाहिए।

क्यों की इस समय में दिमाग का विकास होना बहुत आवश्यक होता है और यह काम केवल विटामिन E की मदत से ही किया जाता है। इसीलिए जो गर्भवती महिलाये होती है उन्हें करीब दो सालों तक विटामिन के सप्लीमेंट लेने की सलाह दी जाती है।

क्या आप विटामिन E को खाद्यपदार्थ के माध्यम से ले सकते है? – Vitamin E Foods

अधिकतर लोग खाने की चीजो में से ही विटामिन E की कमी को पूरा करते है। निचे कुछ चीजे दी गयी है जिनमे विटामिन E बड़ी मात्रा में पाया जाता है।

  • वनस्पति तेल – Vegetable oils
  • अंडे – Eggs
  • नट्स – Nuts
  • जैतून – Olives
  • पपीता – Papaya
  • नाशपाती की तरह का फ़ल – Avocado
  • पालक – Spinach
  • कच्चे बिज – Raw Seeds
  • बादाम – Almonds
  • गेहू – Wheat germ
  • ट्राउट मछली – Trout
  • शकरकंद – Sweet Potato

Read More:

  1. Benefits Of Lemon
  2. शहद के फायदे
  3. Benefits Of Olive Oil
  4. Benefits Of Tulsi

Note: अगर आपको हमारा विटामिन E के फायदे – Vitamin E Benefits आर्टिकल अच्छा लगा तो जरुर Facebook पर लाइक करे और हमसे जुड़े रहिये. हम आपके लिए और ऐसे Health Tips लायेंगे.

Please Note: विटामिन E के फायदे – Vitamin E Benefits के लिए दी गयी जानकारी को हमने हमारे हिसाब से बताया है.

1 Comment
  1. Gyani Pandit says

    हम हर बार सुनते हैं की विटामिन के कमी के वजह से ये हुआ, वो हुआ. फिर डॉक्टर के पास जाकर हॉस्पिटल में बहुत सा पैसा खर्च कर देते हैं. लेकिन अगर हम पहले से उस विटामिन को अपने रोज के आहार में खाए तो हमें कभी कुछ नहीं होंगा. आपके इस लेख से बहुत फायदा होंगा., धन्यवाद

Leave A Reply

Your email address will not be published.