किचन में रोज इस्तेमाल होनेवाले धनिये के स्वास्थलाभ | Coriander Benefits

2

Coriander – धनिया एक बहुत उपयोगी वनस्पति है। इसका इस्तेमाल खास तौर पर मसाले के रूप में किया जाता। किसी भी घर में खाने के व्यंजन में धनिया का इस्तेमाल किया जाता है। कोई धनिया के पत्तो का इस्तेमाल करता है तो कोई धनिया को पाउडर के रूप में इस्तेमाल करता है। धनिया एक मसाला होने के साथ ही एक औषधि वनस्पति है। इसके इस्तेमाल से कई सारी बीमारियाँ ठीक की जाती है साथ ही बहुत सारी बीमारियाँ ऐसी भी है जो धनिया के सेवन करने से होती भी नहीं। अधिकतर लोगो को धनिया एक मसाला के रूप में जानकारी है। मगर इसकी एक औषधि के रूप में क्या उपयोग होता है इसकी जानकारी निचे दी गयी है।

किचन में रोज इस्तेमाल होनेवाले धनिये के स्वास्थलाभ – Coriander Benefits

Coriander

धनिया क्या है? – What is coriander?

धनिया एक औषधि वनस्पति है जिसे पूरी दुनिया में एक मसाला के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके फल और पत्ते बहुत खुशबूदार है और इन्हें खाना बनाने में इस्तेमाल किया जाता।

कैंसर में लाभदायक – Beneficial in cancer

कई सारे वैज्ञानिको ने धनिया के पत्ते को कैंसर को रोकने वाली दवा होने का दावा किया है और उसे साबित भी किया है। धनिया एक कैंसर विरोधी एजेंट है। इसके पत्तो में बीटा कैरोटीन, विटामिन सी और ई, कैफिक अम्ल, फेरुलिक, क्वेरसेतीन, केम्पफेरोल्ड जैसे एंटीऑक्सीडेंट होते है जो कैंसर को ठीक करने के लिए उपयोग में लाये जाते है।

धनिया एक परिणामकारक एंटीबायोटिक – Coriander is a effective antibiotic

पाचन से जुडी बिमारिया जैसे की डायरिया से छुटकारा पाने के लिए धनिया का एक अच्छे एंटीबायोटिक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। धनिया में बोर्नेअल नाम का रसायन होने के कारण वो ई कोली जीवाणु को ख़तम करने में काफी सक्षम है। एक एंटीबायोटिक होने के कारण इसका इस्तेमाल आत की सुजन, हेमोरोइड, चक्कर आना, फ्लू उच्च रक्तचाप, स्तन का बढ़ना, उलटी होना इन सारी बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है।

धनिया में एक और देदोसनल नाम का एंटीबायोटिक रहता है। इस एंटीबायोटिक का इस्तेमाल जेंतामिसिन की बीमारी को ठीक करने के लिए किया जाता है। हमारे भोजन में पाए जानेवाले जीवाणु साल्मोनेला को ख़तम करने के लिए भी धनिया का इस्तेमाल किया जाता है।

डायरिया – Diarrhea

धनिया के अन्दर बोर्नेअल डान लिनालूल जसे तत्त्व होने के कारण, हमारी पाचन की क्रिया में भी सुधार आ जाता है। यह हमारे दिल और पेट को सुचारू रूप से चलाने में काफी फायदेमंद है। इसमें पाए जाने वाले सिनोले, लिमोनेने, अल्फपिनेने, और बीटा फिलान्द्रेने जैसे तत्त्व बैक्टीरिया से होने वाली बीमारी में भी लाभदायक है। जी मचलना और उलटिया की बीमारी को रोकने में धनिया का इस्तेमाल किया जाता है।

उच्च रक्तचाप – High blood Pressure

धनिया के पत्तो का सेवन करने से उच्च रक्तचाप और हाइपरटेंशन जैसे गंभीर बिमारिया भी ठीक की जाती है। इसके अन्दर के आयन कैल्शियम और कोलिनेर्जिक की मौजुद्गी के कारण दिल से जुडी बिमारिया और स्ट्रोक का खतरा भी कम हो जाता है।

धनिया एक फायदेमंद एंटीऑक्सीडेंट – Coriander A Beneficial Antioxidant

एक रिसर्च के मुताबिक साबित हो चूका है की धनिया के पत्ते एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में इस्तेमाल किये जाते है। इसका कैफिक अम्ल और क्लोरोजेनिक अम्ल साथ में मिलकर हमारी त्वचा पर बुरा असर डालने वाले फ्री रेडिकल को रोकने का काम करते है। इस फ्री रेडिकल की वजह से हमारे शरीर में ऑक्सीडेशन होता है जिससे हमारी स्किन पर काफी बुरा असर पड़ता है। इसीलिए हमारे रोज के खाने में अगर हम धनिया का इस्तेमाल करेंगे तो त्वचा पर होने वाली झुर्रिया से भी छुटकारा मिल जाता है साथ ही फ्री रेडिकल से भी मुक्ति मिल जाती है।

त्वचा की सुजन और अन्य जुडी बीमारिया को ठीक करने के लिए इस्तेमाल

धनिया के पत्तो में सिनोले और लिनोले जैसे गुणकारी तत्त्व पाए जाते है। इन दो तत्वों का इस्तेमाल आर्थराइटिस यानि जोड़ो के दर्द की बीमारी में किया जाता है। त्वचा पर होने वाली सुजन को दूर करने के लिए भी धनिया का इस्तेमाल किया जाता है। इसके पत्तो में जंतु का नाश करने वाला अतसिरी तेल होता है। कवक और जीवाणु संक्रमण से होनेवाली बीमारी भी धनिया से ठीक हो सकती है। साथ ही यह एक कितानुनाशक, एंटीसेप्टिक और कवक से फैलनेवाली बीमारी में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व के कारण एक्जिमा जैसी बीमारी ठीक करने के लिए भी धनिया का उपयोग किया जाता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करने में असरदार – Effective in reducing cholesterol

हमारे शरीर से कोलेस्ट्रॉल कम करने में धनिया के पत्तो का इस्तेमाल किया जाता है। कोलेस्ट्रॉल के कारण दिल का दौरा पड़ना, स्ट्रोक और डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी होती है। इसमें सोडियम और पोटैशियम होने की वजह से शरीर में रक्त को नियंत्रित करने में भी धनिया का उपयोग किया जाता है।

एनीमिया की बीमारी में कारगर – Effective in anemia disease

धनिया में अधिक मात्रा में लोह होता है जो एनीमिया के मरीजो को ठीक करने के लिए उपयोग में लाया जाता है। शरीर में लोह की कमी से श्वसन से जुडी बीमारी, थकावट और दिल की धड़कन को लेकर कई सारी बीमारी हो सकती है। लोह के कारण हमारी हड्डिया भी मजबूत बनती है।

आखो के लिए सेहतमंद – Healthful for the eyes

धनिया में बीटा कैरोटीन और एंटीऑक्सीडेंट होने के वजह से आखो से जुडी कई सारी बीमारी में इसका इस्तेमला किया जाता है। मकुला और मोतिबिंदु जैसे बीमारी में भी धनिया असरदार साबित हो चूका है।

नींद ना आने की बीमारी में असरदार – Sleep-effective

धनिया में फिटोनुत्रिन तत्त्व होने के कारण हमारे शरीर में रसायन को नियंत्रित करने में कारगर साबित हुए है। इससे रात मे अच्छी नींद आती है।

किडनी स्टोन – Kidney stone

धनिया में प्राकृतिक डाययुरेटिक तत्त्व होते है जिससे किडनी स्टोन की बीमारी होना का खतरा कम हो जाता है। साथ ही यह तत्त्वहमारे किडनी से सारी ख़राब चीजो को ख़तम करनेमे सहायता करता है।

डायबिटीज में सहायक – Assistant in diabetes

धनिया के पत्ते एंडोक्राइन ग्रंथि को उत्तेजित करने का काम करते है जिससे हमारे शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ जाती है। इससे हमारे शरीर में सुगर नियंत्रित किया जाता है। डायबिटीज के मरीजो के लिए धनिया काफी सहायता प्रदान करता है क्यों की यह शरीर के सुगर को नियंत्रित करने का काम करता है साथ ही पाचन को भी ठीक करने में सहायक है।

मासिक धर्म की बीमारी में लाभदायक – Beneficial in menstrual disease

धनिया के पत्ते एंडोक्राइन ग्रंथिको नियंत्रित करने का काम करते है। इससे मासिक धर्मं में सुधार होने में मदत मिलती है।

मुह के अल्सर में उपयोगी – Useful in mouth ulcers

धनिया के पत्तो में सित्रोनेलो होता है जो एक अच्छा एंटीसेप्टिक माना जाता है। इसका इस्तमाल मुहके अल्सर को ठीक करने के लिए किया जाता है। इसके पत्तो के इस्तेमाल से अल्सर तेजी से ठीक होते है और श्वसन भी ठीक हो जाता है। धनिया का इस्तेमाल बहुत सारी टूथपेस्ट में भी किया जाता है। टूथपेस्ट के इस्तेमाल से धनिया के बिज का इस्तेमाल ख़राब श्वसन को ठीक करने के लिए किया जाता था।

पाचन से जुडी बीमारी – Digestive disease

धनिया एक औषधि वनस्पति होने के कारण पाचन के लिए कई सारे एंजाइम निर्माण करने का काम करते है। धनिया का इस्तेमाल जी मचलना और उलटी में भी सहायक है।

जंतु को ख़तम करने में कारगर – Effective in eliminating animal

धनिया के पत्तो में अल्कोहल होने से वो विषाणु को बड़ी आसानी से मार सकता है और त्वचा का फैट को कम करने में कारगर है। खाने की चीजो से जंतु को नष्ट करने के लिए भी धनिया का इस्तेमाल किया जाता है। इसी वजह से भी कई डॉक्टर इ कोली का एंटीबायोटिक भी देते है।

शरीर की बदबू – Body odor

बैक्टीरिया के कारण हमारे शरीर से बदबू आने लगती है। मगर इस बदबू को दूर करने के लिए धनिया इस्तेमाल किया जाता है।

त्वचा को सुन्दर बनाने के लिए इस्तेमाल – Used to make skin beautiful

धनिया के पाउडर को खाने में इस्तेमाल करने से स्किन कैंसर का खतरा 30% तक कम हो जाता है। इसके तत्त्व सूर्य की किरनो से आने वाले फ्री रेडिकल को ख़तम करने का काम करते है। हमेशा खाने मे धनिया का इस्तेमाल करने से झुर्रियो से छुटकारा मिलता है।

वजन कम करने के लिए इस्तेमाल – Used to lose weight

धनिया के पत्तो का इस्तेमाल वजन घटाने के लिए भी किया जाता है। इसकी विधि निचे दी गयी है।

  • सबसे पहेल धनिया के 60ग्राम पत्तो को छोटा छोटा करके काट लेना।
  • बाद में उन पत्तियों को एक कप में रखना।
  • उसमे फिर 4 गिलास गर्म पानी डाले और 10 मिनट तक ठंडा होने दे।
  • बाद में फिर इसमें 1 चमच शहद और निम्बू डालना।
  • ब्रेकफास्ट से पहले हररोज इसका सेवन करे। ( अच्छे परिणाम के लिए इसे 5 दिन तक लीजिये )
  • लेकिन जीन लोगो की धनिया के अधिक पत्ते से अलर्जी है उन्होंने इसके सेवन से बचना चाहिए।

धनिया केवल एक खाने में इस्तेमाल किया जाने वाला मसाला नहीं बल्की इसके कई सारे उपयोग है। धनिया एक एंटीबायोटिक और एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्रोत है। साथ ही कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। आखो की बीमारी, वजन घटना, कैंसर की बीमारी, त्वचा के रोग, अल्सर, पाचन से जुडी बीमारिया, डायबिटीज, तनाव जैसी कई सारी गंभीर बीमारी के इलाज में धनिया का इस्तेमाल किया जाता है। इतनी सारी बीमारिया ठीके करने के सारे तत्त्व एक धनिया में है।

Read More:

  1. Benefits Of Lemon
  2. शहद के फायदे
  3. Benefits Of Olive Oil
  4. Benefits Of Tulsi

Note: अगर आपको हमारा धनिया से होने वाले स्वास्थ लाभ – Coriander Benefits आर्टिकल अच्छा लगा तो जरुर Facebook पर लाइक करे. और हमसे जुड़े रहिये. हम आपके लिए और ऐसे Health Tips लायेंगे.

Please Note: धनिया से होने वाले स्वास्थ लाभ – Dhaniya ke Fayde के लिए दी गयी जानकारी को हमने हमारे हिसाब से बताया है.

2 Comments
  1. Gyani Pandit says

    बहुत से लोग हरा धनिया खाने से ना कहते हैं, अगर वह एक बार यह पोस्ट पढ़ के तो जीवन में कभी भी हरा धनिये से इनकार नहीं करेंगें, Great information, Thanks……….

  2. Hindi articles says

    wakai me bahut acchi jankari hai. aur log dhaniya to bahut kam hi use me lete hai. jisme me bhi hu but abhi mene aapka ye post padha .. ab paata chala ki kiya kiya faida hai .

Leave A Reply

Your email address will not be published.