पपीता से होने वाले फायदे | Benefits of Papaya

1
760

Papaya – पपीता एक स्वास्थकारी उष्णकटिबंधी फल है। फल के साथ-साथ पपीते के पेड़ के बाकी भाग जैसे इसके पत्तो का उपयोग भी प्रोटीन को पचाने के लिए किया जाता है। यह फल उन सभी एंटीओक्सिडेंट से भरा हुआ होता है जो सुजन और बीमारियों को कम करने में सहायक होते है। पपीते का सेवन करने से हमारा पाचन तंत्र एकदम स्वस्थ रहता है। आइये अब पपीते से होने वाले फायदों – Benefits of Papaya के बारे में जानते है।

Benefits of Papaya

पपीता से होने वाले फायदे – Benefits of Papaya

पपीते के स्वाद मीठा और रसीला होता है। क्रिस्टोफर कोलंबस ने पपीता फल को “एंजेलिस का फल” बताया था। पुराने समय में पपीता कुछ विशेष समय में ही बाजार में मिलता था, लेकिन अब पपीते को अब सालभर आसानी से बाज़ार से खरीद सकते है।

1. बेहतर पाचन स्वास्थ:

पपीते का उपयोग ज्यादातर पाचन क्रिया को स्वस्थ रखने के लिए किया जाता है। पपीते में पाया जाने वाला एंजाइम शरीर में प्रोटीन की मात्रा को नियंत्रित कर पाचन तंत्र को विकसित करता है और साथ ही पाचन तंत्र को साफ़ भी करता है। साथ ही पपीता प्रोटीन को वसा में परिवर्तित होने से भी रोकता है। यदि प्रोटीन हमारे शरीर में पूरी तरह से नही पचता तो इससे हमें कब्ज, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और इत्यादि हानिकारक बीमारियाँ भी हो सकती है।

2. कैंसर:

बेटा-कैरोटीन जैसे एंटी-ओक्सिडेंट का सेवन करने से कैंसर होने का खतरा भी कम हो जाता है। वैज्ञानिको के अनुसार युवाओ के आहार में बेटा-कैरोटीन को शामिल करने से यह कैंसर पैदा करने वाली कोशिकाओ के खिलाफ लड़ने का काम करता है।

3. वजन कम करने में सहायक:

जो लोग प्राकृतिक रूप से वजन कम करना चाहते है उनके लिए भी पपीता लाभदायक है। मध्य-सुबह या दोपहर में पपीते का सेवन करना आपके स्वास्थ के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

4. अस्थमा रोकता है:

जो लोग पर्याप्त मात्रा में न्यूट्रीशन का सेवन करते है उनमे अस्थमा की बीमारी होने का खतरा बहुत कम होता है। इनमे से एक न्यूट्रीशन बेटा-कैरोटीन है, जो पपितम ब्रोकोली, गाजर, खरबूजा, कद्दू और खुबानी जैसे खाद्य पदार्थो में पाया जाता है।

5. डायबिटीज के लिए लाभदायक:

जो लोग डायबिटीज की बीमारी से जूझ रहे है उनके लिए भी पपीता सर्वोत्तम फल है, जो स्वाद में मीठा भी होता है। बल्कि जिन लोगो को डायबिटीज नही है उन्हें भी डायबिटीज से बचने के लिए पपीते का सेवन करते रहना चाहिए।

6. शिशुओ के लिए लाभदायक:

जल्दी से पचने वाला यह फल शिशुओ के लिए भी लाभदायक माना जाता है, इसीलिए डॉक्टर अक्सर शिशुओ को सबसे पहले पपीता खिलाने की सलाह भी देते है। जब शिशु 7 से 8 माह का हो जाता है तो हम उन्हें पपीता खिला सकते है। इससे शिशुओ का स्वास्थ अच्छा रहेगा और वे खुश रहेंगे।

7. लैक्टेशन (दुद्ध निकलना) बढ़ाने में मदद करता है:

महिलाओ के स्तनों में दुद्ध की मात्रा बढ़ाने में पपीता महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

चयन और भंडारण:

पपीते को तोड़ने के बाद भी यह पक जाता है। यदि इसकी त्वचा नारंगी है तो इसका अर्थ यह पक चूका है और इसका सेवन आपको कुछ दिनों के भीतर कर लेना चाहिए। जिस पपीते की त्वचा हल्की पिली होती है, उससे पकने में कुछ दिनों का समय लग सकता है।

पके हुए पपीते को आप फ्रिज में स्टोर करके रख सकते हो। लेकिन एक बार पपीते को काटने के बाद एक से दो दिन के भीतर उसका सेवन कर लेना चाहिए।

Read More:

  1. Benefits Of Apple
  2. Benefits of Kiwi 
  3. Benefits of Orange
  4. Benefits of Strawberries
  5. Benefits of Watermelon
  6. Health Tips 

Note: अगर आपको हमारा पपीता से होने वाले फायदे – Benefits of Papaya आर्टिकल अच्छा लगा तो जरुर Facebook पर लाइक करे और हमसे जुड़े रहिये। हम आपके लिए और ऐसे Benefits of Fruits लायेंगे।
Please Note: पपीते के फायदे – Benefits of Papaya के लिए दी गयी जानकारी को हमने हमारे हिसाब से बताया है।

SHARE
Hello friends, I am Shilpa K. founder of LifeStyleHindi.com, this website is the online source of Lifestyle information in Hindi, recipes in Hindi, beauty tips, health tips, and more lifestyle tips article in Hindi. we focused on delivering rich and evergreen subject that useful for Hindi reader.

1 COMMENT

  1. पपीते के फ़ायदो के बारेमें अच्छी और विस्तार पूर्वक जानकारी देने के लिए धन्यवाद, लेकिन पपीता खाने का सही समय कौन सा हैं ? यह आप अपने लेख बताये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here