कडवे करेले से होने वाले स्वास्थकारी फायदे | Bitter Gourd Benefits

0
332

Bitter Gourd – करेले का उपयोग केवल सब्जी के रूप में ही नही बल्कि औषधीय कारणों से भी इसका उपयोग किया जाता है। पेट से संबंधित बीमारियों को ठीक करने के लिए करेले का उपयोग करते है। या तो कच्चा करेला खा सकते है या फिर इसे जैतून के तेल और शहद के साथ भिगोकर खाते है।

कडवे करेले से होने वाले फायदे – Bitter Gourd Benefits

Bitter Gourd

दमकती त्वचा के लिये – Bitter Gourd benefits for Skin:

करेले के ज्यूस में विटामिन A और C के साथ शक्तिशाली एंटी-ओक्सिडेंट पाए जाते है, जो समय से पहले होने वाली बुढ़ापे वाली त्वचा और चेहरे की झुर्रियो से छुटकारा दिलाते है। साथ ही यह, मुहाँसो और दागो को दूर करने में भी सहायक है।

चमकदार बालो के लिये – Bitter Gourd benefits for Hair:

अपने सर में हर रोज करेले के ज्यूस को लगाने से आपको बालो के झड़ने और रूखे बाल और रूसियो की समस्या से छुटकारा मिलेंगा। बालो के गिरने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप सीधे करेले के ज्यूस को अपने सिर पर लगा सकते हो या फिर इसमें दही मिलाकर अपने सिर की मसाज भी कर सकते हो, इससे आपको बालो में कंडीशनर लगाने की भी जरुरत नही पड़ेगी। रूसियो की समस्या से बचने के लिये आप करेले के ज्यूस, जीरा पेस्ट और 1 चम्मच नींबू के रस का मिश्रण बनाकर हेयर मास्क तैयार कीजिये। बाद में इसे बालो पर लगाकर 30 मिनट तक लगा रहने दीजिए और बाद में धो लीजिए। यह ज्यूस रक्त शुद्धिकारक के रूप में भी काम करता है।

पेट संबंधी समस्याओ से भी छुटकारा:

करेले में पाए जाने वाले तत्वों का उपयोग जठरांत्र की बीमारी को ठीक करने के लिए किया जाता है और करेले का ज्यूस हमारे शरीर में बढ़ने वाले परजीवी कीड़ो को मार भगाता है। यह हमें पेट संबंधी समस्याओ से भी छुटकारा दिलाता है।

ताकत बढाता हैं – Boosts energy:

इन्सान को कोई कार्य करना हो तो ताकद की जरुरत होती हैं यदि आप रोजाना नियमित रूप से करेले के ज्यूस का सेवन करते हो, तो आप आसानी से अपनी ताकत और सहनशीलता को बढ़ा सकते हो।

नशे को दूर करता है:

ज्यादातर लोग अल्कोहल का सेवन करते है। और ज्यादा सेवन करने से उन्हें नशा चढ़ जाता है। नशे को आप करेले के ज्यूस के माध्यम से दूर कर सकते है। करेले के ज्यूस में पाए जाने वाले तत्व नशे को पूरी तरह से दूर कर देते है। बल्कि इससे आपकी किडनी को भी कोई हानि नही होती।

डायबिटीज की लेवल को नियंत्रित रखने में सहायक – Bitter Gourd Benefits for Diabetes:

आज दुनिया में तक़रीबन मिलियन से ज्यादा लोग डायबिटीज की बीमारी से जूझ रहे है। करेले में पॉलीपेप्टाइड-p और p-इन्सुलिन नाम का यौगिक पाया जाता है, जो प्राकृतिक रूप से डायबिटीज को नियंत्रित करता है। करेले के ज्यूस का सेवन यदि रोजाना किया जाए तो यह प्रभावशाली तरीके से डायबिटीज के मरीज के खून में शक्कर और ग्लूकोस की मात्रा को कम कर उन्हें संतुलित रखता है। कहा जाता है की डायबिटीज के मरीजो ने रोजाना कम से कम 1 कप तो भी करेले के ज्यूस का सेवन करते रहना चाहिये।

हानिकारक कोलेस्ट्रॉल के प्रमाण को कम करता है – Bitter Gourd Juice for Cholesterol:

करेले का ज्यूस अ-उत्तेजक है और यह शरीर में हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से रोकता है और उन्हें नियंत्रित करता है। इसके साथ-साथ यह ह्रदय विकार की समस्या को भी कम करता है। साथ ही यह शरीर में ब्लड प्रेशर को भी संतुलित रखता है और पोटेशियम से भरपूर होने की वजह से शरीर में पाए जाने वाले अत्यधिक सोडियम को सोख लेता है। यह आयरन और फोलिक एसिड से समृद्ध होता है जो हमारे ह्रदय को स्वस्थ रखते है और इससे ह्रदय विकार का खतरा टल जाता है।

आँखों की समस्या के लिए लाभदायक – Bitter Gourd for Eyes:

करेले में बेहतरीन तत्व पाए जाते है जो बहुत सी आँखों की समस्या से हमें छुटकारा दिलाते है। करेला बेटा कैरोटीन से समृद्ध होता है। नजरो की दृष्टी को बढाने के लिए करेले के ज्यूस का रोजाना सेवन करना बहुत प्रभावशाली साबित हो सकता है।

करेले की पत्तियाँ भी कुछ बीमारियों को दूर करने में सहायक है। यह उन बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकती है जिनसे मलेरिया होने का खतरा बढ़ता है। यह जरुरी है की बीमारी को आने से पहले ही रोका जाए, और ऐसा करते समय करेले जैसे कुछ खाद्य पदार्थ हमारे जीवन और शरीर दोनों को स्वस्थ बनाने में कारगार साबित होते है। यदि मलेरिया के लक्षण आपमें दिखाई देने लगे तो तुरंत करेले की कुछ पत्तियों को उबालिये और इस काढ़े को चाय की तरह पी जाइये। आप इस काढ़े में थोड़ी अदरक और थोड़ी शक्कर भी मिला सकते है, शक्कर मिलाने से काढ़े की थोड़ी कडवाहट भी कम होंगी।

करेले की पत्तियों से बने काढ़े को पिने से यह मलेरिया फ़ैलाने वाले बैक्टीरिया को शरीर में पूरी तरह से मार गिराता है और इससे आपको बीमारी होने से पहले से उससे निजात मिल जाता है। साथ ही यह शरीर में होने वाले कुछ वायरस जैसे खसरा, चिकनपॉक्स, दाद और मृत्युदायक बीमारी जैसे HIV के प्रभाव को भी कम करने में सहायक है। यह सबसे पहले वायरस फ़ैलाने वाले बैक्टीरिया के विकास हो रोकता है और फिर जब वह कमजोर हो जाता है तो उन्हें मार गिराता है। कडवा स्वाद होने की वजह से बच्चे अक्सर करेले को पसंद नही करते लेकिन गंभीर बीमारियों से लढने में करेला काफी सहायक है।

Read More – Health Tips 

जरुर पढ़े –

  1. निम्बू के फ़ायदे और उपयोग
  2. Benefits Of Honey
  3. Benefits Of Olive Oil
  4. Benefits Of Tulsi
  5. दालचीनी के फ़ायदे
  6. Benefits Of Apple
  7. Garlic Benefits

Note :- अगर आपको हमारा कडवे करेले से होने वाले फायदे / Bitter Gourd Benefits आर्टिकल अच्छा लगा तो जरुर Facebook पर लाइक करे. और हमसे जुड़े रहिये. हम आपके लिए और ऐसे Health Tips लायेंगे.
Please Note :- कडवे करेले से होने वाले फायदे / Bitter Gourd Benefits In Hindi के लिए दी गयी जानकारी को हमने हमारे हिसाब से बताया है.

SHARE
Hello friends, I am Shilpa K. founder of LifeStyleHindi.com, this website is the online source of Lifestyle information in Hindi, recipes in Hindi, beauty tips, health tips, and more lifestyle tips article in Hindi. we focused on delivering rich and evergreen subject that useful for Hindi reader.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here