अजवाईन के फायदे | Benefits Of Ajwain In Hindi

2
12006

अजवाईन / Ajwain, भारतीय रसोईघर घरो में खाने क स्वादिष्ट बनाने के लिये इस जड़ी का अक्सर उपयोग किया जाता है। इस जडीबुटी में बहुत की ज्यादा खुशबू होती है, इसीलिए इसे संस्कृत में उग्रगंधा भी कहते है। अजवाईन / Carom Seeds के बहुत से स्वास्थकारी और औषधीय लाभ / Benefits Of Ajwain है। पेट से संबंधित बीमारियों के लिये यह एक अच्छी औषधि है। इसके बीज, तेल, फुल और सार का उपयोग बहुत सी बीमारियों में औषधि के रूप में किया जाता है। शरीर के अंदर के कीड़ो को मारने के लिये यह एक प्रभावशाली औषधि है। इसके साथ ही अजवाईन कान के दर्द, दाँतो के दर्द, इन्फ्लुएंजा, ह्रदय समस्या, गठिया रोग, नासिका के ब्लॉकेज को कम करने में भी सहायक है। और साथ ही ज्यादा कामुकता की इच्छा रखने वाले इंसान को शांत और ठंडा रखने के लिये भी इसका उपयोग किया जाता है।

अजवाईन के फायदे / Benefits Of Ajwain In Hindi

Benefits Of Ajwain

अजवाईन से होने वाले फायदे / Carom Seeds In Hindi –

1. गर्भ के समय में होने वाली पाचक संबंधी परेशानी और गर्भवती महिलाओ के लिये सहायक –

अजवाईन के बीज में वो सभी एंटीओक्सिडेंट गुण होते है जो गर्भवती महिलाओ के लिये उपयोगी होते है। असल में देखा जाये तो अजवाईन के बीज खाद्य पदार्थो की पचन क्रिया में सहायक है। गर्भवती महिलाओ की कमजोर हड्डियों और शारीरक कमजोरी को दूर करने में भी अजवाईन सहायक है। अजवाईन के बीज गर्भवती महिलाओ के शरीर को भीतर से मजबूत बनाते है और उन्हें ताकत देते है। अभ्यास से यह भी पता चला है की जो महिलाये अपने बच्चो को स्तनों का दूध पिलाती है उनके लिये अजवाईन के बीज बहुफलदायक है।

2. डायबिटीज के मरीजो के लिये अजवाईन के बीज के फायदे –

अजवाईन के बीज डायबिटीज को कम करने में सहायक है, दिन में दो बार रोजाना अजवाईन के बीज का सेवन करने से डायबिटीज की समस्या से छुटकारा मिलता है।

3. अजवाईन और वजन कम कराना –

साधारणतः इसके बीज में वजन कम करने की क्षमता नही होती है। अजवाईन के बीजो में भूक को बढ़ाने के गुण होते है तो डाइट करने वाले लोगो के लिये फायदेमंद नही है। अजवाईन भले ही आपके थोड़े से वजन को कम कर सकती है लेकिन कम किया हुआ यह वजन ज्यादा समय तक टिक नही पाता। और कुछ समय बाद फिर से आपक वजन बढ़ जाता है।

4. पाचक में सहायक –

पारंपरिक रूप से अजवाईन को एक अच्छा पाचन खाद्य माना जाता है। अपचन की वजह से उदरीय असुविधा के समय में अजवाईन एक औषधि का काम भी करती है। इसके साथ ही विशाल जानवरों के उदार में जब पाचन संबंधी समस्या होती है तब भी उसके इलाज के लिये अजवाईन का उपयोग किया जा सकता है। अपच से होने वाले दस्त और पेचिश की समस्या को दूर करने के लिये भी अजवाईन का उपयोग किया जाता है। इसके लिये आपको 1 कप पानी में 1 चम्मच अजवान के बीज को उबाले और उबालने के बाद पानी को ठंडा होने दीजिये और फिर उस पानी को पी लीजिये। यह हर्बल पेय पाचन क्रिया से संबंधित सभी समस्याओ को दूर करता है। आप अपच से संबंधित समस्या को दूर करने के लिये सीधे अजवाईन के बीज को थोड़ी सी शक्कर के साथ भी खा सकते हो। इससे आपको पेट दर्द और पेट से संबंधित दूसरी समस्याओ से भी राहत मिलेंगी।

5. नवजात शिशुओ के लिये पेट के दर्द से संबंधित उपाय –

अजवान के बीज का उपयोग नवजात शिशुओ के पेट के दर्द को कम करने के लिये भी किया जाता है। सुखी अजवाईन को आप दूध में डालकर भी शिशुओ को पिला सकते हो। इससे नवजात शिशु का पाचन तंत्र विकसित होंगा और शिशु स्वस्थ रहेंगा। पेट में गैस के निर्माण और अपचन की वजह से ही पेट का दर्द होता है लेकिन एक चम्मच अजवाईन को 2 से 3 चुटकी साधारण नामक के साथ गर्म पानी में घोलकर लेने से भी पेट के दर्द संबंधित बीमारी दूर होती है।

6. जुखाम से तुरंत छुटकारा –

जुखाम की समस्या से निजात पाने के लिये भी भारतीय घरो में अजवाईन का उपयोग किया जाता है, एक कपडे में अजवाईन पाउडर को बांधे और रोज़ उसकी गंध लेते रहे, इसे आपकी नसों में हुए ब्लॉकेज खुल जायेंगे और जुखाम की समस्या भी दूर होंगी। सोए समय अजवाईन को अपने तकिये के नजदीक रखने से भी आपकी कई स्वास्थकारी फायदे हो सकते है।या फिर आप अजवाईन और गुड के मिश्रण को लेकर उसका एक पेस्ट बनाये। इस पेस्ट को एक-एक चम्मच के प्रमाण में दिन में कम से कम दो बार लेने की कोशिश करे। इससे आपको लंबे समय तक चलने वाली बीमारी जैसे अस्थमा से छुटकारा मिल सकता है। कफ की समस्या से बचने के लिये अजवाईन के बीजो को चबाये और तुरंत एक कप गर्म पानी पिए इससे आपको कफ से निजात मिलेंगा।

7. ह्रदय की समस्या से छुटकारा –

यदि अजवाईन का सेवन एक कप गर्म पानी के साथ किया जाये तो यह ह्रदय को क्रियाशीलता प्रदान करता है और सुचारू रूप से काम करने देता है। इसके साथ ही ह्रदय से संबंधित दूसरी समस्याओ में भी अजवाईन फायदेमंद साबित होती है।

8. दर्दभरे दाँत और कान –

एक बूंद अजवाईन के तेल को कानो में डालने से यह खतरनाक कानो के दर्द से निजात दिलाता है। एक कप पानी में एक चम्मच अजवाईन और 1 चम्मच नामक डालकर उसे उबाले। अब उबले हुए पानी को ठंडा होने दीजिये। अब इस पानी से कुल्हा कीजिये, इससे आपके दाँतो के अंदर के कीड़े मारे जायेंगे और दाँत भी स्वस्थ और साफ़ रहेंगे। एक प्रक्रिया को रोज़ कुछ ही मिनटों तक करते रहे।

9. गठिया रोग से बचाता है –

अजवाईन में अ-उत्तेजनक गुण होते है और इसीलिए इसका उपयोग मांसपेशियों को शांत करने के लिये किया जाता है। प्रभावशाली लाभ पाने के लिये अजवाईन के तेल को प्रभावशाली भाग पर लगाकर रगड़े। अजवाईन के तेल और बीज से कई तरह के दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है।

10. अजवाईन कामोत्तेजक है –

अजवाईन एक प्राकृतिक कामोत्तेजक जड़ी-बूटी है। अजवाईन में यौन कामेच्छा को विकसित करने का गुण भी होता है। अजवाईन वीर्य के निर्माण में भी सहायक है।

11. क्षय निरोधक अजवाईन –

अजवाईन का उपयोग क्षय निरोधक के रूप में भी किया जाता है। अजवाईन त्वचा के इन्फेक्शन को दूर करती है। अजवाईन के बीज में पाया जाने वाला थिमोल एक शक्तिशाली जर्मीसाइड और फंगीसाइड है। अजवाईन के तेल का उपयोग टूथपेस्ट और परफ्यूम में डालकर भी किया जा सकता है। अजवाईन की पत्तियों क\ओ पीसकर यदि इन्फेक्शन वाली जगह पर लगाया जाये तो इससे जल्दी राहत मिलती है।

12. मांसपेशियों की ऐठन –

अजवाईन में अ-खिचावयुक्त गुण होते है, अजवाईन में पाये जाने वाले थिमोल की वजह से ही उसमे ये सारे गुण होते है। अजवाईन के बीजो से निकलने वाले थिमोल का उपयोग पेट के दर्द, अस्थमा, मांसपेशियों के खिचाव, मरोड़, गठिया, गठिया रोग और दर्द से निजात पाने के लिये भी किया जाता है। महिलाओ में होने वाले मासिक खिचाव के समय भी अजवाईन के बीज लाभदायक है।

13. अजवाईन एक एंटीबैक्टीरियल बीज है –

अजवाईन के बीजो से बदबूदार साँस से भी छुटकारा पाया जा सकता है।अजवाईन में पाया जाने वाला थिमोल माउथ वाश का काम करता है। साधारणतः अजवान के बीजो को सौफ के बीज के साथ लेने से बदबूदार साँस से छुटकारा मिलता है।

14. किडनी और लीवर की समस्या के लिये उपयोगी अजवाईन –

बहुत सी आयुर्वेदिक औषधियों में अजवाईन का उपयोग किडनी और लीवर की समस्या को ठीक करने के लिये किया जाता है। इसके साथ ही आयुर्वेदिक औषधियों में इसका उपयोग पेट से संबंधित समस्याओ से निजात पाने के लिये भी किया जाता है।अल्कोहल की तृष्णा को मिटाने के लिये भी आप अजवाईन को चबा सकते हो।

15. श्वास संबंधी समस्या को ठीक करती है –

अजवाईन श्वास संबंधित इन्फेक्शन जैसे अस्थमा से निजात दिलाने में भी सहायक है। जो लोग अस्थमा की बीमारी से जूझ रहे है उन्हें अजवाईन को सिर्फ चबाने की जरुरत है और साथ ही इसके बाद हल्का गर्म पानी पाइन की जरुरत है। अस्थमा वाले मरीज को इस क्रिया को रोज़ सुबह उठने के बाद दोहराना चाहिये। इसके साथ ही आप अजवाईन के बीज को एक गर्म बर्तन में गर्म भी कर सकते हो और उससे निकलने वाली गर्म वाष्प को भी आप ग्रहण कर सकते हो। इससे आपको मांसपेशियों संबंधित समस्या से छुटकारा मिलेंगा।

Read More – Health Tips 

जरुर पढ़े –

  1. निम्बू के फ़ायदे और उपयोग
  2. शहद के फायदे
  3. जैतून के तेल के फायदे
  4. टमाटर के फायदे
  5. तुलसी के फ़ायदे
  6. दालचीनी के फ़ायदे

Note :- अगर आपको हमारा अजवाईन के फायदे / Benefits Of Ajwain In Hindi आर्टिकल अच्छा लगा तो जरुर Facebook पर लाइक करे. और हमसे जुड़े रहिये. हम आपके लिए और ऐसे Health Tips लायेंगे.
Please Note :- अजवाईन के फायदे / Ajwain Benefits  के लिए दी गयी जानकारी को हमने हमारे हिसाब से बताया है.

SHARE
Hello friends, I am Shilpa K. founder of LifeStyleHindi.com, this website is the online source of Lifestyle information in Hindi, recipes in Hindi, beauty tips, health tips, and more lifestyle tips article in Hindi. we focused on delivering rich and evergreen subject that useful for Hindi reader.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here