जैतून के तेल के फायदे | Olive oil in Hindi

7
174273

पहले के ज़माने में ज्यादातर लोग जैतून के तेल / Olive oil in Hindi से बनी सब्जिया ही खाया करते थे. अब आपके दिमाग में आया होंगा की क्यू? जब दुसरे तेल बाजार में उपलब्ध है. तो फिर जैतून का तेल ही क्यू?

तो उसके पीछे बहुत से कारण थे. और वो आप इस लेख द्वारा समझ जायेंगे. ओलिव ऑइल / Olive oil को हिंदी में “जैतून का तेल“, तेलगु में “जीता तैलम”, तामिल में “अलिव एन्ने”, कन्नड़ में “ओउदल एन्ने”, मराठी में “जैतून तेल”, मलयालम में “ओलियेन्न” और बंगाली में “जोलोपाई तेल” कहाँ जाता है.

जैतून के तेल के फायदे / Olive oil in Hindi

Olive Oil In Hindi

जैतून के तेल के 12 फायदे – Benefits Of Olive Oil

१) जैतून का तेल त्वचा के लिये – Olive Oil For Skin

1. त्वचा में नमी बनाये रखने के लिये

● 1 चम्मच जैतून का तेल.

आपको क्या करना है –

1. नहाने के बाद, शरीर को हल्का गिला रखे और चहरे पर जैतून के तेल से मालिश करे.

2. मालिश होने के 15 मिनट बाद चहरे को गुनगुने पानी से धो लोजिये.

3. अगर आपकी त्वचा रूखी है तो, रात में सोने से पहले जैतून का तेल लगाये और उसे सुबह तक रहने दे और सुबह उठने के बाद कुनकुने गर्म पानी से चहरे को धो लीजिये.

यह काम क्यों करता है –

● जैतून के तेल में भरपूर मात्रा में विटामिन E होता है, एंटीऑक्सीडेंट होता है जो त्वचा को इन्फेक्शन से बचाये रखता है. जैतून के तेल को मोइस्चराइजर के रूप में उपयोग किया जा सकता है.

2. त्वचा के स्वस्थ बनाये रखता है – Olive oil for healthy skin

आपको क्या क्या चाहिये –

  • 1/3 कप दही.
  • 1/4 कप शहद.
  • 2 चम्मच जैतून का तेल.

आपको क्या करना है –

  1. इनसब चीजो को मिलाते रहे, जब तक पेस्ट नही बन जाता.
  2. इस पेस्ट को चेहरे पर 20 मिनट तक लगा कर रखे.
  3. फिर चेहरे को गुनगुने पानी से धोले. आप इसे सप्ताह में एक बार लगा सकते है.

यह क्या काम करता है –

जैतून के तेल में विटामिन E होता है. इसके न्यूट्रीशन त्वचा को सेहतमंद बनाये रखते है. और त्वचा के मुहासे, दाग-धब्बों को ठीक करता है. यह त्वचा को स्किन कैंसर और सोरायसिस से भी बचाता है.

शहद हुमेक्टंत का काम करता है और दही एक्स्फोलिंट का काम करता है जिससे त्वचा में निखार आता है.

3. श्रृंगार निकालने में सहायता करता है – Olive oil for makeup removal

आपको क्या क्या चाहिये –

● 2 चम्मच जैतून का तेल.

आपको क्या करना है –

  1. कपास के छोटे-छोटे गोले बना ले और उन्हें उसमे डुबो दे और फिर उसे गोलों से घिसने पर आपका पूरा श्रृंगार निकल जायेगा.
  2. आप कपास के गोलों को जैतून के तेल में डुबोके आँखो का श्रृंगार निकाल सकते है. इससे आपके आँखो के पास की जगह सॉफ्ट हो जायेंगी.

जैतून का तेल आईलैशेस के लिये –

  1. जैतून का तेल एक स्वस्थ बनाने वाली और स्फूर्ति प्रदान करने वाली दवा है. यह बालो और त्वचा को नया जीविन प्रदान करता है.
  2. जैतून का तेल दरअसल फैट ऑब्टेनेड है जो की जैतून के पौधे में से मिलने वाले फल से प्राप्त होता है इसकी खेती पारम्पंरिक रूप से मेडिटेरियन रीजन में की जाती है.
  3. जैतून के तेल में निकले हुए एसिड की मात्रा के हिसाब से इसका वर्गीकरण किया जाता है. जो एक्स्ट्रा वर्जिन तेल होता है उसमे एसिड की मात्रा सिर्फ 1% होती है और दुसरे प्रकार के तेल में 3% एसिड की मात्रा होती है.
  4. जैतून का तेल आश्चर्यजनक रूप से बालो को बढ़ने में, सुंदर व घने बनाने में मदद करता है. यह बालो की जड़ो को स्वस्थ रखता है और बालो को मुलायम भी रखता है. यह आईलैशेस के लिए भी उपयोगी साबित होता है.
  5. जैतून का तेल प्रकृति से मिलता है और उसमे विटामिन्स और न्यूट्रीशन होते है जो की बालो के बढ़ने के लिए जरुरी होते है. इसके रोजाना उपयोग से आईलैशेस स्वस्थ रहती है.
  6. जैतून के तेल से आईलैशेस बढ़ जाते है. और इसके अलावा आप इसकी मदद से आँखो का श्रृंगार आसानी से निकाल सकते है.

आईलैशेस के लिये जैतून के तेल का कैसे उपयोग करे –

अब सवाल यह उठता है की जैतून का तेल आईलैशेस के लिये किस तरह उपयोगी है. यह एक सरल प्रक्रिया है जिसे अधिक से अधिक 1 या 2 मिनट लगते है.

  • कपास में कुछ बुँदे जैतून के तेल की डालिये अब इसे आईलैशेस पे लगाये.
  • जैतून का तेल भारी होता है इसीलिये ध्यानपूर्वक इसकी कुछ बुँदे ही लेनी चाहिये.
  • 5 से 10 मिनट लगा कर कुनकुने पानी से साफ कर लीजिये.
  • गुनगुने पानी से साफ करने पर आपकी आईलैशेस पर लगा तेल अच्छी तरह से छुट जयेगा.
  • यह प्रक्रिया 4 सप्ताह तक करने पर इसके अच्छे नतीजे प्राप्त होते है.

आप तेल को लगाने के लिये आईलैशेस के ब्रश का भी उपयोग कर सकते है. तेल की कुछ बुँदे ब्रश पर ले और आईलैशेस पर लगाये. फिर कुछ समय के लिए बैठ जाये और उपर दिए गए तरीको को अपनाये –

अगर इसे सोते समय लगाया जाए तो यह और भी अच्छे नतीजे देता है क्योंकि सोते समय आपकी आखे बंद होती है और तेल भी अच्छी तरह से अपना काम कर सकता है.

टिप्स –

जैतून के तेल को एयेलाशेस पर लगाने से पहले इन टिप्स को अपनाये –

● जैतून के तेल के साथ विटामिन E का तेल भी आईलैशेस पर लगाये. यह आँखों के बालो को बिना हानी पहुचाये आँखों का श्रृंगार आसानी से निकालने में मदद करता है.

प्राकृतिक आईलैशेस आप अच्छे सेहतमंद खानपान से और सामग्री के उपयोग से जल्दी और अच्छे आईलैशेस पा सकते है. खुबसुरत एयेलाशेस पाने के लिये आप स्वास्थ संप़ूरक (सप्लीमेंट) भी ले सकते है.

इन टिप्स को अपनाने से जल्दी ही आपकी आईलैशेस में फ़रक दिखाई देंगा. इससे आपकी आईलैशेस लम्बी, घनी और खुबसूरत हो जायेंगी.

4. त्वचा पर झुर्रियाँ आने से रोकता है – Olive oil for face

आप को क्या-क्या चाहिये –

  • 2 चम्मच जैतून का तेल.
  • 1 चम्मच निम्बू का रस.
  • 1 चुटकी नमक.

आपको क्या करना है –

  1. सबसे पहले आप थोडे से जैतून के तेल से अपने चहरे की मालिश करे.
  2. फिर बचे हुए तेल और नमक को मिला ले जिस से आपको एक्स्फोलिफ़्ट मिलेंगा.
  3. अब इसमें निम्बू का रस मिलाये, जिससे आपको ताजगी मिलेंगी.
  4. फिर इसे अपने चहरे के उस हिस्से पर लगाये जो रुखी और सुखी है.

यह काम कैसे करता है –

जैतून का तेल त्वचा के लिए एक अच्छा विकल्प है क्योकि यह चहरे को मोइस्चराइज रखता है. जिस से झुर्रियाँ नही आती.

5. बालो को स्वस्थ बनाने के लिये – Olive oil for hair

आपको क्या क्या चाहिए:-

  • 1/2 कप जैतून का तेल.
  • 2 चमच शहद.
  • 1 अंडे का पल्प.

आपको क्या करना है –

  1. सभी सामग्री को मिलाते रहे जब तक पेस्ट नही बन जाता.
  2. अब इस पेस्ट को अपने बालो पर 20 मिनट तक लगा कर रखे.
  3. फिर इसे गुनगुने गर्म पानी से धो लीजिये.

यह काम कैसे करता है –

जैतून के तेल में विटामिन E होता है जो बालो का झडना रोकता है. शहद बालो को मोइस्चराइज रखता है. इसमें दुसरे न्यूट्रीशन भी होते है जैसे मैग्नीशियम, जिंक, सल्फर और विटामिन B जो बालो को बढ़ने में सहायता करते है. अंडे में भरपूर मात्रा में प्रोटीन और न्यूट्रीशन होते है जो बालो के लिये जरुरी होते है.

6. नाखुनो के स्वस्थ के लिये – Olive oil for nails growth

आपको क्या-क्या चाहिये –

  • 2 से 3 चम्मच जैतून का तेल.

आपको क्या करना है –

  1. आप कपास के छोटे गोले बना ले और उन्हें जैतून के तेल में डुबो दे और उन्हें नाख़ून पर लगाये.
  2. 30 मिनट तक इसे वैसे ही रहने दे और फिर सादे पानी से धो ले.

यह काम कैसे करता है –

जैतून के तेल में विटामिन E होता है जो नाखूनों को स्वस्थ रखता है. और यह नाखुनो को सुंदर भी बनाता है.

7. महिलाओ को ब्रेस्ट कैंसर से बचाता है – olive oil for breast cancer prevention

आपको क्या करना है –

जिस तेल में आप खाना पकाते है, उसकी जगह आप जैतून के तेल का उपयोग करे.

यह काम कैसे करता है –

एक सऊदी अरब के व्यक्ति ने यह खोज निकाला है की जैतून की पत्तियों में “ओलेउरोपेइन” नाम का एक पदार्थ होता है, जो एंटी ब्रैस्ट कैंसर का काम करता है.

स्पेन में यह पाया गया की वो 62% महिलाये जो जैतून के तेल से बना खाना खाती है उन्हें ब्रैस्ट कैंसर नही होता.

8. डायबिटीज से बचाता है – Olive oil for diabetics

यह काम कैसे करता है –

हॉवर्ड स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ का मानना है की ऐसा खानपान जिसमे मोनो और पॉली फैट जैसे जिसमे जैतून का तेल हो वह डायबिटीज से बचाता है.
अमेरिकन जर्नल ऑफ़ क्लिनिकल न्यूट्रीशन का मानना है की जैतून के तेल का सेवन करने से महिलओं में डायबिटीज होने की सम्भावना बहोत कम होती है.

9. अल्ज्हेमिर से बचाता है – olive oil prevents Alzheimer’s

यह काम कैसे करता है –

अमेरिका की प्रसिद्ध मैगज़ीन के अनुसार जैतून का तेल अल्ज्हेमिर होने से रोकता है. जैतून के तेल में ओलेओकन्थल पदार्थ होता है जिससे वह अल्ज्हेमिर बीमारी को रोकता है. अमेरिकन क्लिनिकल सोसाइटी का भी यही मानना है.

10. हड्डियों को मजबूत रखता है – Olive oil benefits for bones

यह क्या काम करता है –

एक खोज में पता चला है की जो लोग जैतून के तेल में पका हुआ खाना खाते है उनकी हड्डियाँ मजबूत होती है. उनके खून में ओएस्तोकल्सिन की मात्रा ज्यादा होती है जो हड्डियों को मजबूत रखते है.

11. मानसिक तनाव को ठीक करता है – Olive oil for mental health

यह काम कैसे करता है –

जैतून के तेल का एक आश्चर्यचकित फायदा ऐसा है की यह मानसिक तनाव भी दूर करता है. जैतून का तेल सेरोटोनिन जोकी एक दिमाग का केमिकल है, इसे बढ़ता है जो एक एन्टीडिप्रेशन का काम करता है.

12. वजन कम करने में मदद करता है – Olive oil for weight loss

यह काम कैसे करता है –

हॉवर्ड स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ ने माना है की जैतून का तेल वजन घटाने में सहायता करता है. वजन घटाना 2 प्रकार के खानपान से होता है. एक मॉडरेट फैट डाइट जिसमे जैतून का तेल होता है वह एक लो फैट डाइट है.

स्टडी के अंत तक पता चला की 20% लोग फैट डाइट अपना रहे है ओर 54% मॉडरेट फैट डाइट अपना रहे है और उनका 18 महीनो में 9 पौंड वजन कम हुआ है.

कोई ऑयली त्वचा पर ऑइल लगा सकता है क्या? लोगो को आज कल ऑयली त्वचा नही चाहिये तो फिर वे ऑइल क्यू लगाते है.

यह सोचना गलत है की ऑइल त्वचा को और ऑयली बनाता है. कई केसेस में यह सही भी होता है. अगर आप जैतून का तेल उपयोग कर रहे है तो ये आपके साथ नही होंगा. जैतून का तेल चहरे को अधिक ऑइल बनाने से रोकता है.

जैतून का तेल / Olive Oil ऑयली त्वचा के लिये फायदेमंद है –

त्वचा में सेबसौस ग्लैंड होता है जो सीबम उत्पन्न करता है जो त्वचा को ऑयली, डल, और चमकीली बनाता है. ऑइल से त्वचा के गड्डे बुझ जाते है जिससे बैक्टेरिया पैदा होता है और ब्लैकहैड हो जाते है. जैतून का तेल बिना आपकी त्वचा को ऑयली और ड्राय बनाये त्वचा का ऑइल कम करता है. जैतून का तेल हर किस्म की त्वचा के लिये मोइस्चराइजर का काम करता है. इस बात का ध्यान रखे की जैतून के तेल का कम से कम उपयोग करे. इसके अधिक मात्रा में उपयोग करने से आपके चेहरे पर धब्बे आ सकते है.

जैतून के तेल / Olive Oil का उपयोग करने के कारण –

● एंटी एगेंग – जैतून के तेल में खूब एंटीऑक्सीडेंट होते है. जिसमे से हाइड्रोक्सिट्रोसल जो एगेंग क्रिया को कम करता है.

● ऑयली त्वचा – जैतून के तेल का रोजाना कम मात्रा में उपयोग करने से त्वचा साफ रहती है

● सेंसिटिव त्वचा – जैतून के तेल से इरिटेशन नही होती इसीलिये यह त्वचा के लिये फायदेमंद है. जैतून के तेल में न्यूट्रीशन होते है जो जेंटल त्वचा के लिये फायदेमंद होते है.

ऑयली त्वचा के लिये जैतून के तेल के फायदे –

जैतून के तेल में भरपूर मात्रा में न्यूट्रीशन होते है जो चेहरे पर ऑइल निर्माण नही होने देते. जैतून के तेल में भरपूर मात्रा में जैतून, विटामिन A और एंटीऑक्सीडेंट होते है. विटामिन A त्वचा का pH सन्तुलित बनाये रखता है, जिससे त्वचा स्वस्थ रहती है. एंटीऑक्सीडेंट त्वचा को बीमारियों से बचाता है जैसे मुहासे, ब्लेमिश और स्किन कैंसर से.

जैतून के तेल के उपयोग से त्वचा ऑइल मुक्त होती है. जैतून का तेल चहरे से ऑइल को निकालता है और चहरे को साफ रखता है. जैतून के थोडे से तेल से चेहरे की मालिश करने से और गुनगुने गर्म पानी से धोने के बाद लम्बे समय तक आपके चहरे पर ऑइल नही आयेगा. अगर आपको सनबर्न या स्किन एक्जिमा हुआ है तो जैतून के तेल का उपयोग करने से ये बीमारियाँ ठीक हो जायेंगी.

जब कैमिकल से बने पदार्थ आये नही थे तब जैतून के तेल का उपयोग मोइस्चराइजर के रूप में किया जाता था.आज बहोत से क्रीम, लोशन और साबुनो में जैतून के तेल का उपयोग किया जाता है. यह सब पदार्थ किफायती तो है मगर वर्जिन जैतून के तेल के सामने कुछ भी नही. आप फ़िअगो ओलिव ऑइल, एलोवेरा और सनफ्लावर ब्रांड का भी उपयोग कर सकते है जिसका आपको चिकित्सक सुझाव दे.

तो अब ऑइल को बाय कहिये और खुबसूरत त्वचा का वेलकम करे.

जैतून के तेल / Olive Oil का उपयोग करते समय कुछ जरुरी टिप्स –

जैतून के तेल का उपयोग करते समय आपको कई बातो को ध्यान में रखना चाहिये, वो बाते है-

  1. इसका ज्यादा मात्रा में उपयोग ना करे.
  2. इसको जख्मो पर ना लगाये.
  3. इसे धुप और हवा से बचाकर सूखे और ठंडी जगह पर रखे.
  4. गर्भवती महिलाओ ने इसका उपयोग कम करना चाहिये.
  5. इसे ज्यादा समय तक गर्म ना करिये क्योकि यह ज्यादा गर्म होने पर यह जल सकता है.

इसका चुनाव कैसे करे और इसे कहा रखे –

  • सही जैतून के तेल का चुनाव करते समय 5 बातो का ध्यान रखे.
  • सबसे पहले तो यह देखे की ये एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून तेल है या नही.
  • दूसरा इसके लेबल पर देखे की यह कहाँ से आया है अगर यह ज्यादा दूर से आया होतो इसके ख़राब होने के मौके ज्यादा है.
  • इस पर दी गई तारीख देखे अगर यह 2 वर्षो से ज्यादा पुरानी हुई तो इसका उपयोग ना ही करे तो अच्छा है.
  • इसे लेने पहले इसकी खुशबु लेकर जरुर देखे. अगर इसमें से ख़राब खुशबु आये तो इसे वापस करदे.
  • सभी देशो में उच्च क्वालिटी का ही जैतून का तेल बनता है. पर रिसर्च का कहना है की ये डोमेस्टिक देशो में ही बनता है और वहा से मंगाया जाता है.

इसे किस जगह पर रखे

  1. इसे अंधेरी और ठंडी जगह पर रखे.
  2. इस बात का ध्यान रखे की तेल धुप हवा और लाइट से दूर रहे.
  3. इसे अपारदर्शी काँच या स्टेनलेस स्टील की बोतल में रखे.
  4. ध्यान रहे की बोतल का ढक्कन अच्छी तरह से लगा हो.

जैतून के तेल / Olive Oil के साथ खाना पकाये –

आप सलाद, मच्छी, सब्जियों को पकाने के लिए एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून के तेल का उपयोग करे.

जैतून का तेल जल्दी ही गर्म हो जाता है तो इस बात का भी ध्यान रखे. और एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून तेल भी जल्दी ही गर्म हो जाता है. इसलिए इसे ज्यादा समय तक गर्म ना करे. आप इसमें खाने को मध्यम आंच में ही पकाये.

सावधानी –

जैतून के तेल से किसी को एलर्जिक रिएक्शन हो सकती है तो इस बात का ध्यान रखे.

जिन लोगो को जैतून के तेल से एलर्जी है उन लोगो को एक्जिमा और रैशेज हो सकते है. तो इस बात का भी ध्यान रखे. तो इसीलिए जैतून का तेल लगाने से पहले थोड़ी मात्रा में कुछ दिन लगा कर देखे. अगर एलर्जी हुई तो किसी चिकित्सक को दिखा दीजिये.

और अधिक लेख :

Note : अगर आपको हमारा जैतून के तेल के फायदे / Olive oil in Hindi आर्टिकल अच्छा लगा तो जरुर Facebook पर लाइक करे. और हमसे जुड़े रहिये. हम आपके लिए और ऐसे Health Tips लायेंगे.
Note : जैतून के तेल के फायदे / Olive oil in Hindi  के लिए दी गयी जानकारी को हमने हमारे हिसाब से बताया है.

SHARE
Hello friends, I am Shilpa K. founder of LifeStyleHindi.com, this website is the online source of Lifestyle information in Hindi, recipes in Hindi, beauty tips, health tips, and more lifestyle tips article in Hindi. we focused on delivering rich and evergreen subject that useful for Hindi reader.

7 COMMENTS

  1. olive oil के फ़ायदे, उपयोग पढ़कर अच्छा लगा जैतून का तेल हमरे शरीर के लिये बहुत फायदेमंद हैं. मुझे लहसुन यानी garlic के benefit जानना हैं please आप लहसुन के फ़ायदे बताये.
    धन्यवाद् ………

  2. हमे olive oil आयल के उपयोग पढ़कर बहुत अच्छा लगा अब हमें लिंग बड़ा करने के फायदे बताईए।की लिंग को किस प्रकार से बड़ा बड़ा करे । thanks

  3. Breast ka size bada karne me olive oil ka kya yogdan h or kaise upyog. Kar sakte h.
    Sath me penis ko bada karne ke upay bataye

  4. हमे जेतुन के तेल के फायदे जान कर अच्छा लगा हमे पता हि नहि तथा की हम प्रकरती की इतनी अच्छी चीज से मेहरुम हे शुकरीया !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here