ह्रदय विकार के लक्षण | Heart Attack Symptoms In Hindi

0

अक्सर हम फिल्म या टीवी में देखते है की ह्रदय विकार / Heart Attack Symptoms जब आता है तो छाती में दर्द होता है. सभी ह्रदय विकार अचानक ही नही आते, एक अभ्यास में ऐसा पता चला है की ह्रदय विकार के 100 मरीजो में से 80 मरीजो को छाती में दर्द नही होता है.

ह्रदय विकार के लक्षण / Heart Attack Symptoms In Hindi

Heart Attack Symptoms In Hindi
ह्रदय विकार के लक्षण अलग-अलग होते है. कुछ लोगो को ह्रदय विकार आने से पहले उसके कुछ लक्षण भी दिखाई देते है. आपके लक्षण दूसरो से अलग होंगे, आपके लक्षण जरूरी नही की दुसरे मरीजो के लक्षण से मेल खाये. लेकिन ह्रदय विकार के सामान्य लक्षणों को जानना बहोत जरुरी है, तो आइये ह्रदय विकार आने के लक्षणों को जानते है :

1) ह्रदय विकार का सबसे सामान्य लक्षण छाती का दुखाना या बेचैनी महसूस होना है, ये लक्षण महिला और पुरुष दोनों के ही लिये है.

2) ह्रदय विकार धीरे-धीरे आता है और आने से पहले आपको थोडा दर्द होता है या बेचैनी महसूस होने लगती है. ये लक्षण आपको अचानक भी हो सकते है या धीरे-धीरे भी आ सकते है. ये लक्षण कई घंटो तक आपको परेशान करते रहेंगे.

3) उपरी शरीर में दर्द होगा. आपको अपने कंधो, पिछले भागो, गर्दन या पेट में भी दर्द हो सकता है.

4) ऐसे लोग जिन्हें भारी मात्रा में शुगर की समस्या है उन्हें ह्रदय विकार कभी भी आ सकता है और उनके लक्षण दिखाई देना जरुरी नही है.

5) साँसों की कमी होना या साँस लेने में तकलीफ होना. यही आपका सबसे महत्वपूर्ण लक्षण हो सकता है, सांस में तकलीफ आपको छाती में दर्द होने से पहले शुरू हो सकती है. या कोई शारीरिक काम करने से पहले आपको सांस लेने में तकलीफ हो सकती है.

6) महिलाओ में इसके लक्षण / Heart Attack Symptoms In Women सांस लेने में तकलीफ होना, उल्टी होना, थकावट महसूस करना, पिछले भाग पर दर्द होना, कंधो में दर्द होना इत्यादि है.

कुछ लोगो के ह्रदय विकार से पहले कोई लक्षण नही दिखाई देते. ऐसा ह्रदय विकार जो अचानक या फिर लक्षण दिखे बिना ही होता है, ऐसे ह्रदय विकार को साइलेंट हार्ट अटैक कहते है.

जब छाती का दर्द बढ़ने लगे तो समझ जाइये की आपके ह्रदय विकार के लक्षण दिखाई दे रहे है. जब कभी भी आपको छाती में दर्द हो तो अपनी जाँच डॉक्टर से जरुर करवाये.

ह्रदय विकार के कुछ और भी लक्षण :-
निचे दिए गये ह्रदय विकार के दुसरे लक्षणों पर भी जरा ध्यान दे :

1) ठण्ड के मौसम में भी पसीना आना.

2) बिना कोई वजह से थकावट महसूस करना. यही आप महिला है तो आपको कई दिनों तक लगातार थकावट महसूस हो सकती है.

3) पेट में दर्द या फिर उल्टिया होना.

4) अचानक सर में भारी दर्द होना.

इनके अलावा कोई लक्षण भी दिखाई दे सकते है.

ह्रदय विकार आने वाले सभी मरीजो के ये सभी लक्षण नही दिखाई देते. इसीलिए, ह्रदय विकार की समस्या में हर मरीज के लक्षण अलग-अलग होते है.

जब खी भी आपको लगे की आपने आपको ह्रदय विकार के लक्षण दिखाई दे रहे है तो उसे नज़रंदाज़ न करे, और तुरंत मदद के लिये पुकार करे. मदद लेने के लिये 9-1-1 पर कॉल करे.

1) ह्रदय विकार आटे ही तुरंत को एक्शन लेना आपकी जान बचा सकता है.

2) एम्बुलेंस में अस्पताल जाना आपके लिये सबसे बेहतरीन रास्ता हो सकता है. वहा इमरजेंसी मेडिकल सर्विसेज (ईएमएस) आपकी काफी सहायता कर सकती है. इसके अलावा अस्पताल में जो लोग एम्बुलेंस से आते है उनका जल्दी इलाज किया जाता है.

9-1-1 पर काल करने से आपको काफी सहायता मिल सकती है, इमरजेंसी में वे आपको सलाह भी दे सकते है. ईएमएस ऑपरेटर आपकी जान बचा सकते है.

ह्रदय विकार आते ही आपका हर एक सेकंड आपके लिये बहुमूल्य होता है इसीलिए 9-1-1 पर कॉल करने में जरा भी देरी न करे.

Read More:

अगर आपको हमारा ह्रदय विकार के लक्षण / Heart Attack Symptoms In Hindi लेख अच्छा लगा तो जरुर हमें कमेन्ट के माध्यम से बताएं. और Facebook पर लाइक करके हमसे जुड़ें. धन्यवाद

Leave A Reply

Your email address will not be published.